Sunday, December 4, 2022
More

    Latest Posts

    Gujarat Election 2022 BJP Pabubha Manek Dwarka Not Lost Single Election In Last 32 Years- HindiNewsWala


    Dwarka Assembly Constituency: गुजरात विधानसभा चुनाव 2022 में कुछ सीटें ऐसी हैं जिन्हें बीजेपी के लिए सबसे सुरक्षित माना जा रहा है. क्योंकि इन सीटों के विधायकों की अपने क्षेत्र में मजबूत पकड़ है. ऐसी ही सुरक्षित द्वारका विधानसभा सीट है, जहां के विधायक पाबूभा मानेक हैं. इस सीट पर पाबूभा मानेक के नाम पर बीजेपी के पास एक ऐसा तूरूप का इक्का है जिसे यहां से हरा पाना बहुत मुश्किल है. द्वारका सीट से पाबूभा मानेक लगातार 32 सालों से विधायक हैं.   

    द्वारका सीट से पाबूभा मानेक सबसे पहली बार साल 1990 में विधायकी का चुनाव जीते थे. इसके बाद पाबूभा इस सीट से कभी चुनाव नहीं हारे, वहीं इस बार भी पाबूभा को बीजेपी ने अपना उम्मीदवार बनाया है. 1990 के बाद पाबूभा मानेक साल 1995 और 1998 में निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव जीते. इसके बाद साल 2002 में पाबूभा मानेक कांग्रेस में शामिल हो गए और उसके टिकट पर विधानसभा पहुंचे. 

    2007 में बीजेपी में हुए शामिल
    साल 2007 के विधानसभा चुनाव से पहले पाबूभा मानेक बीजेपी में शामिल हो गए, इस चुनाव में वो बीजेपी के उम्मीदवार के तौर पर लड़े और जीतकर फिर से विधानसभा पहुंचे. साल 2012 और 2017 के चुनाव में भी पाबूभा मानेक बीजेपी से विधायक चुने गए. अब 2022 के चुनाव में भी बीजेपी ने एक बार फिर पाबूभा मानेक को विधायिकी का टिकट दिया है और वो 8वीं बार विधानसभा पहुंचने की तैयारी कर रहे हैं.    

    News Reels

    ‘द्वारका में सभी समुदायों का समर्थन’
    हाल ही में न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए मानेक ने कहा, ‘मुझे द्वारका में सभी समुदायों का समर्थन और स्नेह मिलता है. यही वजह है कि इतने लंबे समय से इस सीट से मैं चुना गया हूं, निर्वाचित नहीं हुआ हूं. मैं पिछले 8 बार से द्वारका सीट से जीत रहा हूं, जिसमें से मैं तीन बार निर्दलीय उम्मीदवार, एक कांग्रेस के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव जीता.” 

    वहीं, गुजरात चुनाव में आम आदमी पार्टी से मिल रही चुनौती के बारे में पूछे जाने पर पाबूभा मानेक ने कहा, “अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली पार्टी ने राज्य में मुफ्त बिजली सहित कई मुफ्त देने का वादा किया है, 18 साल से ऊपर की सभी महिलाओं के लिए 1,000 रुपये का मासिक भत्ता आदि राज्य में काम नहीं करेगा क्योंकि यहां के लोग अपनी आजीविका कमाने में विश्वास करते हैं.”

    बता दें कि राज्य में दो चरणों में चुनाव होंगे, जिसमें पहले चरण में 89 सीटों के लिए 1 दिसंबर और दूसरे चरण में बाकी बची हुई सीटों के लिए 5 दिसंबर को वोटिंग होगी. 

    यह भी पढ़ें: Gujarat Election 2022: 5 प्रतिशत के मार्जिन से इन सीटों पर हुआ था हार-जीत का फैसला, मध्य गुजरात के सबसे अधिक सीटें

    Latest Posts

    Don't Miss