Tuesday, November 29, 2022
More

    Latest Posts

    Gujarat Election 2022 75 Lakh Cash And Congress VIP Pass Recovered From A Car In Surat- HindiNewsWala


    Gujarat Assembly Election 2022: गुजरात चुनाव की सरगर्मियां चरम पर हैं. राज्य में एक दिसंबर को पहले चरण का मतदान होना है. पहले चरण में 19 जिलों की 89 सीटों पर वोट डाले जाएंगे. जिन 19 जिलों में वोटिंग होनी है, उनमें कच्छ, सुरेंद्रनगर, मोरबी, राजकोट, जामनगर, देवभूमि द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, गिर सोमनाथ, अमरेली, भावनगर, बोटाद, नर्मदा, भरूच, सूरत, तापी, डांग्स, नवसारी, और वलसाड जिले शामिल हैं. वोटिंग से पहले सूरत से बड़ी खबर सामने आ रही है.

    सूरत में एक कार में 75 लाख रुपये बरामद हुए हैं. कार में नकदी के साथ कांग्रेस के वीआईपी पार्किंग पास भी मिले हैं, इससे राजनीति काफी गरमा गई है. चुनाव आयोग के उड़न दस्ते की टीम ने कार से नकदी बरामद की है. पुलिस और आयकर विभाग की एक टीम भी मौके पर पहुंच गई है. जानकारी के मुताबिक, ये कार सूरत के महिधरपुरा इलाके में जड़खड़ी मोहल्ला के पास रंगरेज टावर के पास खड़ी थी. 

    कार पर मराहाष्ट्र का नंबर

    कार पर महाराष्ट्र का नंबर MH-04 ES-9907 लिखा है. ये कार महाराष्ट्र की थाना पासिंग इलाके की है. कार में तीन लोग सवार थे. पुलिस को देखते ही एक भाग निकला, जबकि दो को हिरासत में ले लिया गया है. कार में मिली नकदी को जब्त कर लिया गया है. कार में बीएन संदीप नाम का गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी का एक वीआईपी पार्किंग कार्ड भी मिला है. कांग्रेस का वीआईपी पार्किंग कार्ड मिलने से बीजेपी ने मोर्चा खोल दिया है. 

    News Reels

    बीजेपी का कांग्रेस पर हमला

    बीजेपी ने कांग्रेस पर चुनाव में पैसों से वोट खरीदने का आरोप लगाया है. बीजेपी के मुताबिक चुनावों को प्रभावित करने के लिए अब कांग्रेस इतना गिर गई है. भगवा पार्टी ने चुनाव आयोग से कांग्रेस का नामांकन निरस्त करने की मांग की है. वहीं चुनाव आयोग भी कांग्रेस से इसपर सफाई मांग सकता है. 

    गुजरात में लागू है आचार संहिता

    गुजरात विधानसभा चुनाव के चलते पूरे प्रदेश में आदर्श आचार संहिता लागू है. चुनाव आयोग की ओर से व्यवस्था की गई है कि कोई भी व्यक्ति चुनाव में शराब, ड्रग्स या मादक पदार्थों की तस्करी ना कर सके. धन, शराब या अन्य किसी भी चीज के जरिए मतदान को प्रभावित करने वाले तरीकों का इस्तेमाल नहीं हो सकता. गुजरात में कई जगहों पर पुलिस और स्टेटिक सर्विलांस टीमें (एसएसटी) लगातार नजर रख रही हैं.

    ये भी पढ़ें-Politics: ‘मोदी-शाह से बीजेपी वाले नहीं डरते, अब बोलने लगे हैं’, सीएम गहलोत का बड़ा दावा

    Latest Posts

    Don't Miss