Tuesday, November 29, 2022
More

    Latest Posts

    Gujarat Assembly Elections 2022: Single Marriage Rule Needed Like Hindus, Says Himanta Biswa Sharma- HindiNewsWala


    Himanta Biswa Sharma: गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान होने में अब सिर्फ एक हफ्ते का वक्त रह गया है. सभी दलों के दिग्गज जोर-शोर से चुनाव प्रचार में लगे हैं. इस बार गुजरात विधानसभा चुनाव में समान नागरिक संहिता यानी यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uniform civil code) का मुद्दा भी सुर्खियों में है. इसी कड़ी में बीजेपी नेता और असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा शर्मा ने यूनिफॉर्म सिविल कोड पर बड़ा बयान देते हुए मुस्लिमों में एक से ज्यादा शादियों पर निशाना साधा. उन्होंने यूनिफॉर्म सिविल कोड को देश की जरूरत बताया.

    गुजरात के धनसूरा में मंगलवार को असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा शर्मा ने यूनिफॉर्म सिविल कोड की मांग उठाते हुए कहा कि इसके नहीं होने की वजह से ही कुछ लोग एक से ज्यादा महिलाओं के शादियां कर रहे हैं. उनका संकेत मुस्लिम समुदाय की ओर था, लेकिन उन्होंने अपने संबोधन में मुस्लिम शब्द का जिक्र नहीं किया. 

    बाकी धर्मों के लोगों को भी एक ही शादी का हो अधिकार

    असम के मुख्यमंत्री ने कहा, “अभी आप देखिए..एक व्यक्ति है दो-दो तीन-तीन शादियां कर लेता है. आप क्यों करेंगे इतनी शादियां? देश में अगर हिंदू 1 शादी करता है तो बाकि धर्मों के लोगों को भी 1 ही शादी करनी पड़ेगी. कैसे कोई दो-दो तीन-तीन शादियां करेगा. इसलिए मैं आज ये बोल रहा हूं कि देश को यूनिफॉर्म सिविल कोड चाहिए.”

    News Reels

    सिर्फ बीजेपी ही ला सकती है यूनिफॉर्म सिविल कोड

    हिमंत बिस्वा शर्मा ने आगे कहा, “महिलाओं का सम्मान होना चाहिए. अगर घर में एक बेटा है और एक बेटी है, तो बेटे का जो अधिकार है, बेटी को भी वो अधिकार मिलना चाहिए. अगर एक पुरुष है तो एक महिला से शादी कीजिए..दो-दो तीन महिलाओं से आप शादी मत कीजिए. आज देश को यूनिफॉर्म सिविल कोड चाहिए.”

    कांग्रेस पर निशाना साधते हुए हिमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि यूनिफॉर्म सिविल कोड सिर्फ बीजेपी ही ला सकती है. कांग्रेस ये काम कभी नहीं कर सकती है. कांग्रेस ने कभी नारी का सम्मान नहीं किया था और आगे भी नहीं करेगी.

    गुजरात में बीजेपी ने यूनिफॉर्म सिविल कोड लाने का वादा किया है. विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले ही गुजरात की बीजेपी सरकार ने अक्टूबर में राज्य में समान नागरिक संहिता लागू करने के लिए समिति के गठन को मंजूरी दे दी थी. गुजरात सरकार ने जानकारी दी थी कि यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करने के लिए एक समिति बनाने का फैसला किया गया है. गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने बताया था कि समिति यूनिफॉर्म सिविल कोड का ड्राफ्ट तैयार करेगी.

    यह भी पढ़ें : राहुल गांधी की वजह से ही यहां तक पहुंचे हिमंता बिस्वा, शर्म आनी चाहिए- सद्दाम हुसैन वाले बयान पर कांग्रेस का पलटवार

    Latest Posts

    Don't Miss