Tuesday, January 31, 2023
More

    Latest Posts

    Congress Criticizes Maharashtra Governor Koshyari For Not Taking Off Slippers While Paying Tribute To 26/11 Martyrs | Mumbai News: 26/11 के शहीदों को श्रद्धांजलि देने चप्पल पहने ही पहुंच गए गवर्नर, कांग्रेस बोली- HindiNewsWala


    Mumbai 26/11: कांग्रेस ने शनिवार ( 26 नवंबर) को महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी पर 26/11 के मुंबई आतंकवादी हमलों के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के दौरान अपनी चप्पल नहीं उतारने को लेकर निशाना साधा. कोश्यारी और मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने दक्षिण मुंबई में पुलिस आयुक्त कार्यालय के परिसर में शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की.

    इस बीच राजभवन में कहा गया कि एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने राज्यपाल से कहा था कि ऐसी जगहों पर चप्पल या जूते उतारना जरूरी नहीं है. बयान में कहा गया है कि यह कहना शरारतपूर्ण और दुर्भावनापूर्ण है कि राज्यपाल ने सैंडल पहनकर पुष्पांजलि अर्पित कर पुलिस शहीदों का अपमान किया.

    सचिन सावंत ने किया ट्वीट

    महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एमपीसीसी) के महासचिव और प्रवक्ता सचिन सावंत ने ट्विटर पर कहा, “श्रद्धांजलि देते हुए अपने चप्पल उतारना भारतीय संस्कृति है और निश्चित रूप से महाराष्ट्र की भी संस्कृति है.”

    News Reels

    सावंत ने ट्वीट किया राज्यपाल बार-बार महाराष्ट्र उसकी संस्कृति और प्रतीकों का अनादर करते रहते हैं. मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को उन्हें अपनी चप्पल उतारने और आतंकी हमलों के शहीदों के प्रति सम्मान दिखाने की याद दिलानी चाहिए थी.

    राज्यपाल पहले से ही विवादों में घिरे हैं

    महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी अपनी हालिया टिप्पणी के लिए पहले से ही विवादों में घिरे हैं, जिसमें उन्होंने मराठा शासक छत्रपति शिवाजी महाराज को ‘‘पुराने दिनों’’ का प्रतीक बताया था. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा), कांग्रेस और शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) ने राज्यपाल की आलोचना करते हुए उन्हें पद से हटाए जाने की मांग को लेकर राज्य भर में विरोध प्रदर्शन किया था.

    राजभवन ने भी दिया बयान

    राजभवन ने एक बयान में कहा, “राज्यपाल आज मुंबई में पुलिस आयुक्त कार्यालय में पुलिस शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित करने के लिए रवाना हुए तो एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने राज्यपाल से स्पष्ट रूप से कहा कि ऐसी जगह पर चप्पल या जूते उतारना आवश्यक नहीं है”.

    ये भी पढ़ें: Karnataka-Maharashtra Border: सीएम बोम्मई ने महाराष्ट्र सरकार से राज्य की बसों और नागरिकों की सुरक्षा पर बात की



    Latest Posts

    Don't Miss